How Benefits from वीर्य बढ़ाने के उपाय | वीर्य कैसे बढ़ाए | virya badhane ke ayurvedic upay

वीर्य बढ़ाने के उपाय | वीर्य कैसे बढ़ाएं

Shukranu badhane ke gharelu upay in hindi : यदि आप भी पता करना चाहते है की वीर्य कैसे बढ़ाएं तो दोस्तों आपको बता दे की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की यदि आपका वजन ज्यादा हो या मोटापा हो तो आपको स्पर्म क़्वालिटी को अच्छा रखने के लिए (shukranu) आपको अपना वजन कम करना बहोत जरुरी है आपका बॉडी मास इंडेक्स 25 से निचे आये तो बहोत ही बढ़िया होगा और जो आपका स्पर्म (semen) का प्रोडक्शन को अच्छा करने में मदद करेगा इसके लिए आपको डेली एरोबिक एक्सरसइजेज 45 मिनट्स तक करना आवश्यक है जिससे आपका पल्स रेट बढे और आपको गहेरा स्पर्म हो जाये इससे एनर्जी लेवल बढ़ जाती है और इसका असर हमारे स्पर्म प्रोडक्शन पर होता है।

वीर्य की कमी के लक्षण: दूसरा महत्वपूर्ण बात या है की अच्छी गहरी नींद लेनी चाहिए और इसके लिए हमें कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए याद रहे यदि आपकी नींद पूरी नहीं हो पति है या आप 6 घंटे से कम सोते है तो हमारे शरीर में एंटीस्पर्म एन्टीबॉडीस बनने लगते है जो स्पर्म की क़्वालिटी को ख़राब करते है उसके साथ ही स्पर्म का काउंट और मोटिलिटी काम (shukranu ki kami) हो जाती है।

Shukranu badhane ke liye kya khayen: तीसरी ध्यान देने योग्य बात आपको अपने डाइट में कार्बोहइड्रेट की मात्रा कम रखनी चाहिए और इसकी तुलना में फैट्स और प्रोटीन्स की मात्रा थोड़ी ज्यादा होनी चाहिए जब कर्बोहैड्रेट्स की मात्रा बढ़ती है तो स्पर्म (shukranu) प्रोडक्शन कम हो जाता है। इसके साथ ही आपको फ्रेश फ्रूट्स खाने चाहिए फ्रेश वेजटेबल्स और बीन फ्रूट और इसके साथ ही ड्राई फ्रूट्स खाने है जिनमे ओमेगा थ्री फैट्स ज्यादा रहते है उसका सेवन करना चाहिए।

शीघ्र स्खलन का आयुर्वेदिक इलाज क्या है

वीर्य कैसे बढ़ाये | Shukranu ki sankhya badhane ke upay

Shukranu ki sankhya badhane ke liye kya karen: यदि आप भी शुक्राणुओ की संख्या को बढ़ाना (semen count) चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह आये है आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे shukranu badhane ke upay के बारे में। दोस्तों जैसा की आप सभी को पता होगा की शुक्राणुओं की संख्या यदि कम हो जाती है तो यह नपुंसकता का कारण बन सकती है।

Shukranu ki sankhya badhane ke liye kya khayen: वो पुरुष जो बांझपन के सीकर है या जिनके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या में कमी होती है तो ऐसे पुरुषो को शुक्राणुओं की संख्‍या बढ़ाने के घरेलू उपाय (वीर्य बढ़ाने की दवा) का प्रयोग करना चाहिए। यदि आपकी यौन गतिविधि सही है तो आप एक अच्छा एवं सुखी जीवन का अनुभव करते है। क्योकि यौन गतिविधि शारीरिक सुख के साथ ही प्रजनन प्रकिया का मुख्य आधार माना जाता है।

How to increase sperm count: आपको बता दे की मानव जीवन में (manav shukranu ki sanrachna) आपके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या प्रजनन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। आज कल ज्यादा तर लोग शुक्राणुओं की कमी (shukranu ki kami) से जूझ रहे है। जो की आपकी नामर्दानगी और बांझपन को बढ़ावा देता है।

यदि शुक्राणु की कमी (shukranu janan) का समय पर उपचार किया जाए, तो आप अपनी यौन क्षमता को बढ़ा सकते हैं और अपने साथी के सामने शर्मिंदगी से बच सकते हैं। शुक्राणु की कमी को दूर करने के लिए,(virya badhane ke upay) आपको पौष्टिक आहार, पूरक दवा शामिल करना होगा और अपनी दिनचर्या में कुछ बदलाव करने होंगे। आज हम आपको खाद्य पदार्थों, पोषक तत्वों और खनिजों सहित शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के तरीकों (shukranu badhane ke liye) के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे हैं, ताकि आप बेहतर यौन संतुष्टि प्राप्त कर सकें और अपनी प्रजनन क्षमता में सुधार कर सकें।

फोलिक एसिड सप्लीमेंट का सेवन | फोलिक एसिड टेबलेट किस काम आती है

Sperm count increase food: फोलिक एसिड, विभिन्न शारीरिक कार्यों को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक बी-विटामिन (विटामिन B9), समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। फोलिक एसिड की खुराक को अपनी दिनचर्या में शामिल करने से मात्र से कई लाभ मिल सकते हैं। अपने आहार में फोलिक एसिड (folic acid) शामिल करने पर विचार करने के कुछ अनिवार्य कारण यहां दिए गए हैं।

shukranu kaise badhaye in hindi: आपको पता नहीं होगा फोलिक एसिड (विटामिन B9) वीर्य की मात्रा को बढ़ाने (shukranu badhane ka tarika) में बहोत मददगार साबित होता है। फोलिक एसिड हरी फलियों, सब्जियों, अनाजों और नारंगी के रस में अच्छी मात्रा में पाया जाता है। तो यदि आप अपने आहार में फोलिक एसिड को शामिल करते है तो आपके लये बहोत फायदे मंद होगा।

टेंशन और स्ट्रेस से बचे | ज्यादा टेंशन लेने से कौन सी बीमारी होती है

तनाव सी भरी जिंदगी मनुष्यो के लिए बहोत साडी पॉरब्लम कड़ी करती है और सायद आपको पता नहीं होगा तनाव आपके वीर्य को नुकसान पहुँचता है और है जिससे वीर्य की कमी महसूस होती है।

अपनी दिनचर्या में माइंडफुलनेस प्रैक्टिस, नियमित व्यायाम और पर्याप्त आराम को शामिल करके तनाव और तनाव मुक्त रहें। मानसिक कल्याण को बढ़ावा देने और जीवन में स्वस्थ संतुलन बनाए रखने के लिए आत्म-देखभाल को प्राथमिकता दें।

विटामिन डी और कैल्शियम

how to make sperm thicker and stronger: डी और कैल्शियम वीर्य की कमी को पूरा करने में योगदान करते हैं तथा इस विटामिन डी और कैल्शियम की मदद से वीर्य के पतलेपन से संबंधित समस्याओं का समाधान किया जा सकता है। इसलिए विटामिन डी और कैल्शियम का पर्याप्त मात्रा में सेवन करें। यदि आप चाहे तो विटामिन डी और कैल्शियम का सेवन सप्लीमेंट के रूप में भी कर सकते है। दिन में कुछ समय धूप में बिताने से भी आपको विटामिन डी मिल सकता है। दही, टोंड दूध, केला, सालमन और शतावरी का सेवन अधिक मात्रा में करने से आपकी कैल्शियम और विटामिन डी की आवश्यकताओं को पूरा किया जा सकता है।

विटामिन डी और कैल्शियम हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक पोषक तत्व हैं। विटामिन डी कैल्शियम अवशोषण में सहायता करता है, मजबूत हड्डियों और दांतों को बढ़ावा देता है। ये पोषक तत्व मांसपेशियों के कार्य और प्रतिरक्षा प्रणाली के समर्थन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सूरज का संपर्क विटामिन डी का एक प्राकृतिक स्रोत है, जबकि डेयरी उत्पाद और पत्तेदार सब्जियाँ कैल्शियम प्रदान करती हैं। समग्र कल्याण के लिए दोनों का पर्याप्त स्तर बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ

एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ ऐसे यौगिकों से भरे होते हैं जो शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव से निपटने में मदद करते हैं। अपने आहार में विभिन्न प्रकार के रंगीन फल और सब्जियां, जैसे कि जामुन, पालक और टमाटर शामिल करने से आवश्यक विटामिन और खनिज मिलते हैं जो शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं। ये खाद्य पदार्थ मुक्त कणों को निष्क्रिय करने, समग्र स्वास्थ्य का समर्थन करने और पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अपने दैनिक भोजन में एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर विकल्पों को शामिल करके अपनी भलाई को बढ़ाएं।

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन शरीर में हानिकारक मुक्त कणों को खत्म करने में मदद करता है। विभिन्न विटामिन और खनिज एंटीऑक्सीडेंट के समान ही कार्य करते हैं। एंटीऑक्सिडेंट प्रजनन समस्याओं में कमी और शुक्राणुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि में योगदान करते हैं। इन फायदों के लिए जिनसेंग, अश्वगंधा, ओमेगा-3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर कद्दू के बीज और गोजी बेरी जैसी चीजों को अपने आहार में शामिल करें।

Note-

दोस्तों यदि आपको वीर्य बढ़ाने के उपाय (virya ayurveda in hindi, virya ki dava, Shukranu badhane ke gharelu upay, How to increase sperm count, veer vardhak, फोलिक एसिड टेबलेट किस काम आती है, Sperm count increase food) से जुडी यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो कमेंट में अपनी राय जरूर साझा करे यदि कोई चूक हुई हो तो उसे भी बताये जिससे कीआप तक और बेहतर जानकारी पंहुचा सके।

इसे भी पढ़े

शीघ्र स्खलन का आयुर्वेदिक इलाज क्या है

virya ayurveda in hindi, virya ki dava, Shukranu badhane ke gharelu upay, veer vardhak, shukranu badhane wala, virya vardhak dawai, virya badhane ki ayurvedic medicine, virya badhane wali dawa, virya kaise badhaye ayurvedic, virya ko badhane ki dawa, virya badhane ki dawa ayurvedic, virya ko badhane ki ayurvedic dawa, virya vardhak ayurvedic aushadhi, virya vardhak ayurvedic medicine, वीर्य बढ़ाने के उपाय, virya badhane ki ayurvedic aushadhi, virya badhane ki aushadhi,Sperm count increase food, virya vardhak jadi buti,How to increase sperm count, virya badhane ki jadi buti, ayurvedic virya vardhak,

5 thoughts on “How Benefits from वीर्य बढ़ाने के उपाय | वीर्य कैसे बढ़ाए | virya badhane ke ayurvedic upay”

  1. you are in reality a just right webmaster The site loading velocity is incredible It seems that you are doing any unique trick In addition The contents are masterwork you have performed a wonderful task on this topic

    Reply
  2. I loved even more than you will get done right here. The picture is nice, and your writing is stylish, but you seem to be rushing through it, and I think you should give it again soon. I’ll probably do that again and again if you protect this hike.

    Reply

Leave a Comment